Category: Poetry

raheem ke dohe in hindi /hindi dohe

Rahim Ke Dohe In Hindi   दोहा :- “जो बड़ेन को लघु कहें, नहीं रहीम घटी जाहिं. गिरधर मुरलीधर कहें, कछु दुःख मानत नाहिं.” अर्थ :- रहीम अपने दोहें में कहते हैं की किसी...

shaayrii in hindi / hindi quotes/love shayrii

 बाते जो सीधे दिल से निकलती है और दिल को छू लेती है  कुछ ऐसे जज़्बात जो आंखे तो कह देती है पर अल्फाजो में ब्या नहीं हो पाते ऐसे ही कुछ लफ्जों को...

Maa (A daughters feeling for her mother)

माँ थी तो ममता का सागर छल –छल बहता था मेके (मायके ) का हर रिश्ता आँखों में सजता था पास बुलाती थी उस की मीठी सी मुस्कान थी बहुत ही प्यारी सी उसकी...